सीएम कमलनाथ तूफानी चुनावी दौरे पर थे.उन्होंने आज बैतूल लोकसभा क्षेत्र के तीन विधान सभा इलाके में चुनावी सभा कीं. उनकी मौजूदगी में कुछ नेता वापस पार्टी में लौटे और कुछ दूसरे दल के नेताओं ने कांग्रेस ज्वाइन की. सभा में सीएम कमलनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी पर ताबड़तोड़ जुबानी हमले किए.

बैतूल लोकसभा सीट पर पिछले 28 साल से भाजपा का कब्ज़ा है. इसलिए इस बार कांग्रेस इस रिकॉर्ड को तोड़ने की हर मुमकिन जोड़ तोड़ करने में लगी है. बैतूल के पाथाखेड़ा में कांग्रेस छोड़कर सपा में गए घोड़ाडोंगरी के पूर्व विधायक प्रतापसिंह उइके की सीएम कमलनाथ ने घर वापसी कराई. वहीं सारणी नगरपालिका के पूर्व भाजपा अध्यक्ष मनोज डेहरिया और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के जिला संयोजक राकेश महाले भी कांग्रेस में शामिल हो गए.

अगर चुनावी गणित के लिहाज से देखें तो ये कांग्रेस की बड़ी सफलता है. सभा में सीएम कमलनाथ ने सीधे पीएम नरेंद्र मोदी पर हमले किए. उन्होंने कहा जिस पार्टी से एक भी व्यक्ति देश के स्वतंत्रता संग्राम में शामिल नहीं था उस पार्टी के नेता आज हमें राष्ट्रवाद सिखा रहे हैं. उन्होंने पाथाखेड़ा में कोयला खदान बंद होने के कारण फैल रही बेरोज़गारी और पलायन के लिए भी पीएम मोदी को जिम्मेदार ठहराया.

बैतूल लोकसभा सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है. यहां इस बार कांटे की टक्कर है. ऐसे में कांग्रेस की एकजुटता और भाजपा से कांग्रेस में आए कुछ बागी भाजपा के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं. हालांकि भाजपा ने भी आमला के पूर्व भाजपा विधायक चैतराम मानेकर और कांग्रेस के युवा आदिवासी नेता राहुल चौहान को भाजपा में शामिल कर शक्ति संतुलन की कोशिश की है.

The post CM कमलनाथ फिर बोले- जिसके किसी नेता ने नहीं लड़ी आज़ादी की लड़ाई, वो ना सिखाएं राष्ट्रवाद appeared first on SAMACHAR BHARTI.