मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्ही.एल. कान्ता राव ने लोकसभा निर्वाचन 2019 के लिये निर्वाचन व्यय निगरानी के नोडल अधिकारियों की बैठक ली। श्री राव ने विभिन्न एनफोर्समेंट विभाग को निर्देश दिये कि आचार संहिता के मद्देनजर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की जाये और संबंधित जानकारी निर्वाचन कार्यालय को नियमित रूप से दी जाये।

श्री राव ने पुलिस बल को निर्देश दिये कि उड़नदस्तों एवं स्थैतिक निगरानी दलों की संख्या बढ़ाई जाये। सीमावर्ती जिलों में निरन्तर चैकिंग अभियान चलाया जाये। पुलिस अमले को चैकिंग के दौरान आमजन एवं महिलाओं के साथ सम्मानजनक व्यवहार के निर्देश दिये जायें। आयकर विभाग से कहा गया कि प्रदेश के सभी एयरपोर्ट पर इन्वेस्टिगेशन यूनिट निरंतर सक्रिय रहें और प्रत्येक कार्यवाही की रिपोर्ट भेजें। आबकारी विभाग सभी जिलों में सख्ती से कार्यवाही कर अवैध शराब तथा नशीले पदार्थों के परिवहन, वितरण और विक्रय पर रोक लगाये। रेलवे को निर्देश दिये गये कि सभी प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर स्कैनर लगाकर सामान की जाँच की जाये।

सीईओ श्री राव ने सेंट्रल बैंक के मुख्य प्रबंधक से कहा कि बैंकों में संदिग्ध लेन-देन पर निगरानी रखी जाये तथा इसकी जानकारी संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारी एवं आयकर विभाग को दी जाये। परिवहन विभाग पुलिस के साथ मिलकर अवैध रूप से बम्पर, हूटर और नेम-प्लेट लगे वाहनों पर कार्यवाही करे।

बैठक में संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री राजेश कौल एवं पुलिस, नारकोटिक्स, आयकर, रेलवे, बैंक, आबकारी, विमानपत्तन प्राधिकरण, सीआईएसएफ, परिवहन,  दूरदर्शन तथा आकाशवाणी के नोडल अधिकारी उपस्थित थे।

The post निर्वाचन व्यय निगरानी के नोडल अधिकारियों की बैठक सम्पन्न appeared first on SAMACHAR BHARTI.