राजस्थानी मूवी मौसर सहित हिन्दी फीचर फिल्म श्रेणी में मिले 12 अवार्ड्स

0
29

जयपुर: शहर में पांच दिन से चल रहे राजस्थान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का समापन बुधवार काे हुआ। मालवीय नगर स्थित आइनोक्स जीटी सेंट्रल में आयाेजित समाराेह में फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा काे ऑनरेरी अवॉर्ड फोर एक्सीलेंस फोर कंट्रीब्यूशन इन सिनेमा, राजश्री प्राेडक्शंस के कमल बड़जात्या काे लाइफ टाइम अचीवमेंट तथा रजित कपूर को द महात्मा ऑन सेलुलॉइड थीम अवॉर्ड से नवाजा गया। इस माैके पर विभिन्न श्रेणियों में कुल 72 अवॉड‌्र्स दिए गए।
इस माैके पर आयाेजित टाॅक शाे में जयाप्रदा ने कहा कि जिस तरह साहित्य समाज का दर्पण है। उसी तरह सिनेमा भी बदलते समाज का आईना है। मसलन समाज बदलता है तो फिल्म में बदलाव दिखाई देता है। यदि पुराने दौर की बात करें तो उस दौर के समाज के मुताबिक फिल्म का निर्माण हुआ। मौजूदा दौर में टेक्नोलॉजी फिल्मों में सब्जेक्ट को कई आयामों में दर्शाती है, लेकिन नाटकीयता के साथ सच्चाई का वजूद कायम रखने का प्रयास होता है। उन्होंने कहा कि मॉडराइजेशन के मायने यह नहीं है कि अपनी संस्कृति और जड़ों को भूल जाएं। राजश्री प्रॉडक्शन के कमल बड़ाजात्या ने कहा कि आज वेब सीरीज युवाओं को प्रभावित कर रही है।

हिन्दी फीचर फिल्म श्रेणी में मिले 12 अवॉड‌्र्स

फीचर फिल्म श्रेणी में 12 अवॉड्र्स दिए गए। इनमें हिन्दी फीचर फिल्म वंस अगैन, लाइफ इज गॉड, खेजड़ी और योअर्स ट्रूली शामिल है। बेस्टी स्टोरी का अवॉर्ड फिल्म मुल्क को मिला। सेरेमनी में बेस्ट राजस्थानी फिल्मों में मौसर, म्हारो राम रहीम, बेस्ट एक्टर मुरारीलाल पारीक को नवाजा गया। फिल्म टोकरी और इजरायल की फिल्म रोच को बेस्ट एनिमेशन अवॉर्ड दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here