जयपुर। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर सरहदी रेगिस्तानी जिले बाड़मेर की  ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान की अध्यक्ष रुमा देवी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा राष्ट्रपति भवन में भारत में महिलाओं के सर्वोच्च नागरिक सम्मान “नारी शक्ति पुरस्कार” प्रदान कर सम्मानित किया गया द्य पुरस्कार में उन्हें प्रशस्ति पत्र के साथ एक लाख रुपये की राशि प्रदान की गई । राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा राष्ट्रपति भवन में आयोजित सम्मान समारोह में देशभर की चुनिदा 41 महिलाओं व 3 संस्थानों को यह सम्मान प्रदान किया गया। महिला व बाल विकास मंत्रालय महिला शक्तिकरण के क्षेत्र में विशेष योगदान देने वाली महिलाओं को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर नारी शक्ति पुरस्कार प्रदान करती है। इस अवसर पर सम्मानित रुमा देवी ने कहा कि यह मेरे लिए बहुत गौरव का क्षण है । देश के प्रथम व्यक्ति के हाथों यह सम्मान पाकर मैं अभिभूत हूं। ऎसा लग रहा है जैसे हस्तशिल्प का कार्य करने वाली हजारों महिलाएं इस सम्मान को पाकर गौरवान्वित महसूस कर रही है । गौरतलब है कि रुमा देवी ने ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान के माध्यम से बाड़मेर जिले में हस्तशिल्प का कार्य करने वाली हजारों महिला दस्तकारों को सशक्त करने का कार्य किया है द्य दूर दराज ढाणीयो में जाकर  इन्होने खत्म हो रही एप्लीक एंब्रोडरी  कला को नवाचार के माध्यम से पुनर्जवित कर यह कार्य करने वाली हजारों महिला दस्तकारों के जीवन में खुशियों भर दी है। इन्होने इस कला को देश-विदेश के फेशन रेम्प तक पहुचा कर महिला दस्तकारों को नवीन विकल्प प्रदान किया। हजारों महिला दस्तकारों को प्रशिक्षण प्रदान कर उनके कौशल को उन्नत तकनीकी प्रदान की है, जिससे हजारों परिवार लाभान्वित हुए है।महज आठवीं तक स्कूली शिक्षा ग्रहण कर पाई रूमा देवी अपने उल्लेखनीय कार्यो के लिए कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कार व सम्मान पाकर अपने राज्य ओर देश का नाम रोशन कर चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here