गंगानगर: अनुपगढ़ युवा सामाजिक कार्यकर्ता शमशेर सिंह द्वारा 10 मार्च को सिक्किम राज्य में डोकलाम की पहाड़ियों पर आमरण अनशन चालू किया जाएगा । और रविवार को शमशेर सिंह की पत्नी ने माला पहनाकर तथा उप जिला कलेक्टर के समक्ष धरने पर बैठे व्यापारियों ने भी शमशेर का स्वागत करते हुए माला पहनाकर उन्हें सम्मान पूर्वक डोकलाम के लिए रवाना किया इस संबंध में प्रधानमंत्री को पत्र लिख 10 मार्च से पहले समस्याओं का हल करने की मांग की थी पत्र में लिखा था कि संयुक्त राष्ट्र संघ से अपील करे की विश्व को तुरंत प्रभाव से राष्ट्र घोषित किया जाए सभी देशों को एक मंच पर लाकर नीतियों में परिवर्तन किया जाए क्योंकि विश्व एक शरीर है सभी देश इसका अंग है जो मौजूदा नीतियां हैं वह शरीर को परेशान कर रही है सभी एक मंच पर आकर शरीर को राहत देने वाली नीतियां लागू करे सभी देशों में संजीवनी समझौता हो सम्मेलन टेंट लगाकर उत्तर कोरिया में हो “उत्तर कोरिया से प्रतिबंध हटाओ” सभी देशों के वैज्ञानिक एक मंच पर आकर ऐसी मिसाइल का निर्माण करें जो ऐसी गैस विषाणु जीवाणु छोड़े जिस से सभी सत्य बोलने लग जाए क्योंकि सत्य के बिना सह प्रेम भाईचारा कायम नहीं हो सकता प्रधानमंत्री ने सभी देशों को पत्र लिखा था की आंतकवाद की परिभाषा लिखो किन किन देशो ने वह परिभाषा लिखि सार्वजनिक करो क्या भारत ने लिखी पूरे विश्व की मुद्रा एक करो पूरी दुनिया को जल का समान वितरण “दिल जोड़ो सीमा तोड़ो” जहां समस्या है वहां चलो ताकि फील्ड के दर्द का अनुभव हो उत्तर प्रदेश के जिले पीलीभीत की तहसील कलीनगर में जंगल से कच्चा रास्ता गुजरता है उसका सर्वे हो चुका है उद्घाटन करो ताकि लाखों लोगों को नई जिंदगी मिली,चीन की सिल्क रोड और भारत माला रोड को आपस में जोड़ो अन्य मांगों को लेकर पत्र में प्रधानमंत्री से अपील की थी 10 मार्च से पहले इन सभी मांगों को हल करना सुनिश्चित करें ताकि डोकलाम की पहाड़ियों पर मामूली मांगों को लेकर आमरण अनशन ना करना पड़े । प्रधानमंत्री द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया इसीलिए 10 मार्च से शमशेर सिंह डोकलाम में अनिश्चितकालीन आमरण अनशन शुरू करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here