जोधपुर: जय नारायण विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग के द्वारा आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार के शुभारंभ समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय दिल्ली के प्रो. बी सी वैद्य संसाधनों के संबंध में भूगोलकताओं की भूमिका पर प्रकाश डाला
सेमिनार के मुख्य वक्ता बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय भोपाल के प्रो. एच एस यादव ने निजीकरण के दुष्परिणामों के प्रति आगाह करते हुए मरू पारितंत्र की विविधताओं एवं संसाधनों के संरक्षण नियोजन की भूमिका का धारा प्रवाह विवेचन किया कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो. गुलाब सिंह चौहान ने मरुस्थलीय विकास पर विचार व्यक्त किए कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि राजस्थान वि.वि. जयपुर के पूर्व विभागाध्यक्ष एवं राजस्थान भूगोल परिषद के पूर्व अध्यक्ष प्रो. आर. एन. मिश्र एवं भूगोल परिषद के वर्तमान अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह चौहान ने भी सत्र को संबोधित किया

तदुपरांत आयोजित दो तकनीकी सूत्रों की अध्यक्षता सुखाड़िया वी.वी. उदयपुर की प्रो. साधना कोठारी तथा प्रो. विभागाध्यक्ष प्रो. गजेंद्र परिहार ने की विभिन्न शोधपत्रों का वाचन हुआ यह जानकारी संगोष्ठी संयोजक डॉ ललित सिंह झाला ने दी स्वागत भाषण सेमिनार संयोजक डॉ ललित सिंह झाला ने तथा सत्रों में धन्यवाद ज्ञापन डॉ. ओम प्रकाश राजपुरोहित और डॉ. आशा राठौर ने किया अंत मैं डॉ. गौरवकुमार जैन ने आभार प्रकट किया इस अवसर पर पूर्व सिंडीकेट सदस्य प्रों. डूंगर सिंह खींची प्रों इरफान मैहर जय सिंह डॉक्टर अर्जुन लाल मीणा डॉ अनामिका पुनिया डॉ अश्विनी आर्य उपस्थित थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here